biodata for marriage

शादी का बायोडाटा कैसे बनाएं कि कभी रिजेक्ट ना हो

बायोडाटा का नाम सुनते ही हम सबके जहन में एक ख्याल आता है नौकरी के लिए बायोडाटा। लेकिन बायोडाटा नौकरी के लिए नही होता। नौकरी के लिए सी-वी, रिज्यूम बनाये जाते हैं। बायोडाटा शादी के लिए बनाए जाते हैं। और हम यहाॅ शादी के बायोडाटा की ही बात कर रहे हैं। पहले शादियां नाते रिश्तेदारों के द्वारा या अड़ोस पड़ोस में हो जाती थी। पंडितों, नाइयों के द्वारा जोड़ियाॅ बनायी जाती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं है। कहने को तो ग्लोबलाइजेशन हुआ है। लेकिन दुनिया अपनी ही धुरी में सिमट गई है। पड़ोसी-पड़ोसी को नहीं जानता। कहीं कुछ गलत न हो जाए। इस डर से कोई किसी के लिए रिश्ता बताना भी नहीं चाहता। अब जब शादियां एक दूसरे को देख परख कर हो रही हैं तो बायोडाटा बड़ी अहमियत रखता है। बायोडाटा के द्वारा हम अपनी पसंद के लड़के लड़की को आसानी से ढूंढ सकते हैं।

शादी का बायोडाटा कैसे तैयार करे

शादी का बायोडाटा बनाने के लिए हमें लड़के या लड़की के बारे में सारी सूचनाएं एकत्रित करनी होती है। बायोडाटा उस व्यक्ति के व्यक्तिगत एवं प्रोफेशनल जीवन का ब्योरा होता है। शादी का बायोडाटा बनाते समय हम उसकी व्यक्तिगत जानकारी देते हैं। अर्थात शारीरिक आकार,प्रकार , लंबाई, चेहरे के नाकनक्श आदि के विषय में लिखते है। इसके अलावा बायोडाटा में उस व्यक्ति के धर्म, सम्प्रदाय, जाति, परिवार, ऐजुकेशनल व प्रोफेशनल क्वालिफिकेशन आदि के विषय में भी जानकारी होती है।

क्या लिखना है आवश्यक शादी के बायोडाटा में

शादी के बाद बायोडाटा में हम बेसिक जानकारियां तो लिखते हैं। लेकिन हम सबसे जरूरी बातें लिखना ही भूल जाते हैं। हमें बायोडाटा बनाते समय लड़के लड़की की लाइफस्टाइल के बारे में अवश्य लिखना चाहिए। अरेंज मैरिज में हमें लड़के/ लड़की की शादी से पहले की आदतों, रीति-रिवाजों के बारे में नहीं पता होता। बायोडाटा में इन सब का जिक्र होना आवश्यक है। जैसे कि परिवार शाकाहारी है या मांसाहारी। लड़का या लड़की धूम्रपान, मदिरापान तो नहीं करते। लड़के या लड़की को एकल परिवार पसंद है या संयुक्त परिवार। आपको बिजनेसमैन चाहिए या फिर नौकरी वाला जीवनसाथी। बायोडाटा अगर लड़के का है तो उसे हाऊस वाइफ चाहिये या वर्किग वुमेन। अपने शौक और रूचियों के बारे में भी खुलकर लिखें। सच कहूँ तो, जिस तरह लड़की के लिए सुंदर, सुशील लिखा जाता है। काश बायोडाटा में लड़के के लिए भी केयरिंग एंड हैल्पिंग नेचर लिखा जाये।

शादी का बायोडाटा बनाते समय इन बातों का रखें ध्यान

बायोडाटा बनाते समय हमें कुछ बेसिक जानकारियां उपलब्ध करानी होती है। ध्यान रहे कि हम बायोडाटा में सब कुछ साफ और स्पष्ट लिखें। कहीं भी किसी भी बात को झूठा या बढ़ा चढ़ाकर ना लिखें। हिंदू धर्म के अनुसार जन्म के समय, तिथी व जन्म स्थान का बिशेष महत्व होता है। उसी के अनुसार वर एवं वधू की कुंडली मिलाई जाती है। लड़का या लड़की मांगलिक है। तो इसे भी बायोडाटा में एड कर दे। जिससे आपको उपयुक्त साथी चुनने में सुविधा हो। कुछ व्यक्ति मांगलिक दोष को छिपा लेते हैं। इसके दुष्प्रभाव विवाह के बाद दिखाई देते हैं। अपनी शिक्षा, व्यवसाय, परिवार एवं अपने विषय में सबकुछ स्पष्ट लिखें। अपनी पसंद, नापसंद, घर के विषय में जरूर लिखें

शादी का बायोडाटा हिंदी में कैसे लिखें?

हिंदी में बायोडाटा बनाते समय हम सबसे पहले उस कैंडिडेट का नाम, माता का नाम, पिता का नाम लिखते हैं। उसके बाद उसका धर्म व जाति लिखी जाती है। उसके बाद उसका वैवाहिक स्टेटस लिखा जाता है। उसके बाद उस व्यक्ति की शैक्षिक योग्यता के विषय में लिखा जाता है। शैक्षिक योग्यता के बाद हम व्यक्ति का जन्मदिन, जन्म समय और जन्म स्थान लिखते हैं। अंत में हम व्यक्ति के भाई बहनों और उनके परिवार का वर्णन करते हैं। उसके बाद हम उस व्यक्ति की प्रोफेशनल लाइफ के बारे में लिखते हैं। सबसे अंत में उस की पसंद नापसंद के विषय में लिखा जाता है।

अंग्रेजी में शादी का बायोडाटा कैसे बनाएं

अंग्रेजी में शादी का बायोडाटा लगभग हिंदी जैसा ही होता है। फिर भी उसके विषय में यहां संक्षेप में बात कर लेते हैं।

  • सबसे पहले लड़की / लड़की का नाम लिखते हैं।
  • उसके बाद लड़के/ लड़की की जन्म तिथी लिखी जाती है।
  • उसके बाद लड़के/ लड़की का जन्म स्थान लिखा जाता है।
  • लड़के/ लड़की के जन्म का समय लिखा जाता है।
  • लड़के/ लड़की का गोत्र लिखा जाता है
  • लड़के/ लड़की की फिजिकल अपीरियंस लिखते हैं।
  • लड़के/ लड़की की लंबाई कितनी है।
  • लड़के/ लड़की का काम्पलेक्शन कैसा है ।
  • लड़के / लड़की की एजुकेशन क्वालिफिकेशन क्या है
  • लड़के/ लड़की का प्रोफेशन क्या है?
  • लड़के/लड़की की हॉबीज क्या है
  • लड़के/ लड़की का फादर्स नेम क्या है?
  • लड़के/ लड़की के पिताजी क्या काम करते हैं
  • लड़के/ लड़की की माता जी का नाम लिखते हैं।
  • लड़के/ लड़की की मां क्या करती है।अगर मां गृहिणी है तो वह लिखना चाहिए।
  • इसके बाद भाई बहनों के बारे में लिखते हैं। बड़े भाई बहनों का नाम उनका व्यवसाय पहले लिखते हैं।
  • छोटे भाई बहनों का नाम व व्यवसाय बाद में लिखते हैं।
  • पत्राचार के लिए एड्रेस लिखा जाता है।
  • फोन नंबर व मोबाइल नंबर लिखते हैं।

मोबाइल से बायोडाटा कैसे बनाएं

मोबाइल से बायोडाटा बनाने के लिए सबसे पहले हम प्ले स्टोर में जाते हैं। प्ले स्टोर में जाने पर हमें शादी के लिए बायोडाटा बनाने के काफी सारे एप मिलते हैं। उनमें से कोई भी एक एप आप डाउनलोड कर सकते हैं। यहां पर हम ” बायोडाटा एप फाॅर मैरिज” नाम का एप डाउनलोड कर रहे हैं । इस ऐप को डाउनलोड कर लेने के बाद क्रिएट बायोडाटा पर क्लिक करेंगे। जब आप क्रिएट बायोडाटा पर क्लिक करेंगे। तो एक प्रोफाइल क्रिएट ऑप्सन आएगा। उसमें बायोडाटा की डिटेल्स का फॉर्मेट होगा। उस फॉर्मेट की हर डिटेल्स को फिल करने से आपका बायोडाटा तैयार हो जाएगा। इस एप में विभिन्न फॉर्मेट होते हैं। इस ऐप में आप अपनी पसंद का फॉर्मेट चुन सकते हैं। इसके अलावा आप अपने बायोडाटा में अपनी पसंद का फोटो भी डाल सकते हैं।

अगर एक अच्छा बायोडाटा बना हो तो एक अच्छा जीवनसाथी मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

 

कंप्यूटर पर शादी का बायोडाटा बनाने के लिए हम प्लेस्टोर से

शादी के बायोडाटा के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। शादी का बायोडाटा बनाने के काफी सारे ऐप ऑनलाइन उपलब्ध है। उनमें हम अपनी सारी जानकारी लिखकर आसानी से शादी का बायोडाटा मोबाइल में बना सकते हैं।

1-बायोडाटा में लड़के / लड़की का नाम लिखा जाता है। 

2- लड़के / लड़की की जन्मतिथि की लिखी जाती है ।

3- लड़के / लड़की का जन्म स्थान लिखा जाता है।

4-लड़की / लड़की का गोत्र

5- लड़के / लड़की की शारीरिक संरचना,उसकी लंबाई, उसके रंग के विषय में लिखा जाता है।

6- लड़के / लड़की की एजुकेशन लिखी जाती है। 

7-लड़के / लड़की की प्रोफेशनल क्वालिफिकेशन लिखी जाती है।

 8- लड़के या लड़की की हॉबी के बारे में में लिखा जाता है।

 9-लडके / लड़की के पिताजी, माताजी क्या काम करते हैं, क्या काम करती है लिखा जाता है 

10-लड़के / लड़की का एड्रेस लिखा जाता है।

11-लड़के / लड़की का मोबाइल नंबर और फोन नंबर लिखा जाता है।

बायोडाटा लड़के / लड़की की शादी के लिए बनाए जाते हैं इसमें लड़के / लड़की की सारी व्यक्तिगत, पारिवारिक एवं प्रोफेशनल जानकारियां होती हैं। जिसकी मदद से उनके लिए उपर्युक्त जीवनसाथी ढूंढने में आसानी होती है। बायोडाटा आप खुद भी कंप्यूटर पर टाइप करके बना सकते हैं या फिर किसी ऐप से डाउनलोड भी कर सकते हैं। 

Previous Post
Wedding Day
Hindi शादी का मेन्यू शादी के कार्ड शादी के गाने शादी के गेम्स शादी के फोटोग्राफर

क्या होती है शादी? क्या शादी करना जरुरी है ?

error: Content is protected !!