images (14)

मैरिज बायोडाटा और रिज्यूम में क्या अंतर है?

आपने मैरिज बायोडाटा और रिज्यूम शब्द सूना है और आप इसका इस्तेमाल करते भी है। जॉब के लिए आप रिज्यूमे देते है और शादी के मामले में मैरिज बायोडाटा का इस्तेमाल करते है। लेकिन काफी लोग रिज्यूम और मैरिज बायोडाटा को एक ही मान लेते है की दोनों में एक जेसी इनफार्मेशन होती है।                                                                                                                                  लेकिन यह गलत है रिज्यूम और मैरिज बायोडाटा में इनफार्मेशन भी कुछ अलग-अलग होती है और इनका उपयोग भी अलग-अलग जगह होता तथा इनका मकसद भी अलग होता है। आज की इस पोस्ट में हम आपको मैरिज बायोडाटा और रिज्यूम में क्या अंतर है इसके बारे में बताएँगे।

1. रिज्यूम क्या है?

किसी भी नौकरी के लिए भेजे गए डॉक्यूमेंट को रिज्यूम कहते है। इसमें डी गई हर जानकारी को सरसरी नजर से देखा जाता है और उसके बारे में विस्तार से पूछा जाता है। इसमें इनफार्मेशन भले ही शोर्ट में होती है लेकिन उसका जिक्र खुलकर करना होता है।                                                                                                                                                                                                             रिज्यूम एक तरह आपको नौकरी में इंटरव्यू तक ले जाने का रास्ता है। इसलिए रिज्यूम में अपने स्किल्स के साथ-साथ अपने क्षेत्र से जुडी जानकारी और स्पेशलाइजेशन का भी जिक्र करें। इससे सामने वाले को पता चलेगा की आपका इंडस्ट्री में कितना अनुभव है और आपको वह आगे इंटरव्यू के लिए बुलाएगा।

2. मैरिज बायोडाटा क्या है?

बायोडाटा की फुल फॉर्म होती है बायोग्राफिकल डाटा। इसमें आपकी सारी पर्सनल इनफार्मेशन को लिखा जाता है जैसे जन्म स्थान, जन्म समय, जेंडर, फैमिली डिटेल्स आदि। मैरिज बायोडाटा का प्रयोग शादी से पहले पर्सनल इनफार्मेशन देने के लिए किया जाता है। इसमें व्यक्ति और उसके परिवार की जानकारी होती है जिस आधार पर शादी की बात को आगे बढाया जाता है।

रिज्यूम और मैरिज बायोडाटा में प्रमुख अंतर

  • रिज्यूम नौकरी के लिए होता है और मैरिज बायोडाटा शादी के लिए एक प्रस्ताव है।
  • रिज्यूम में सारी पर्सनल इनफार्मेशन नहीं होती है बल्कि वे जरुर सूचनाएं होती है जो जॉब से जुडी होती है और मैरिज बायोडाटा में व्यक्ति की सारी पर्सनल इनफार्मेशन होती है जिससे सामने वाला आपको पूरी तरह से जान सके।
  • रिज्यूम में फैमिली की पूरी डिटेल्स नहीं होती है बस माँ और पिताजी का नाम होता है जबकि मैरिज बायोडाटा में माता, पिता, भाई-बहन, चाचा-चची से लेकर पूरी फैमिली डिटेल्स होती है।
  • मैरिज बायोडाटा में जन्म के बारे में सारी जानकारी लिखी होती है जैसे जन्म समय, जन्म स्थान, जन्म तिथि आदि। इससे कुंडली मिलान में आसानी रहती है। जबकि रिज्यूम में सिर्फ जन्मतिथि के बारे में बताया जाता है बाकी डिटेल्स से सामने वाले को कोई लेना देना नहीं होता है।
  • मैरिज बायोडाटा में फैमिली बिज़नस के बारे में भी लिखा जाता है जबकि रिज्यूम में सिर्फ अमुख व्यक्ति के बारे में लिखा जाता है की उसका जॉब में कितना अनुभव है।
  • मैरिज बायोडाटा में लिंग, उंचाई, रंग आदि सबके बारे में जाना जाता है जबकि रिज्यूम का इससे कोई लेना देना नहीं है।
  • रिज्यूम में व्यक्ति के स्कूल और कॉलेज के परसेंटेज भी लिखे जाते है जबकि मैरिज बायोडाटा में सिर्फ व्यक्ति की एजुकेशन डिटेल्स को बताया जाता है।
  • मैरिज बायोडाटा में पुरे फैमिली बैकग्राउंड के बारे में बताया जाता है जबकि रिज्यूम में सिर्फ अमुख व्यक्ति का बैकग्राउंड होता है।
  • मैरिज बायोडाटा में फोटो लगाना जरुरी होता है जबकि रिज्यूम में फोटो की कोई जरूरत नहीं है। यह आपकी इच्छा पर है की आप लगाते है या नहीं।

आज की इस पोस्ट में आप अच्छे से समझ गए होंगे की मैरिज बायोडाटा और रिज्यूम क्या है और इन दोनों में क्या अंतर है। उम्मीद करता हूँ की आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और कमेंट बॉक्स में अपने विचार दे।





 




 

Previous Post
शादी के लिए बायोडाटा कैसे बनाये
Hindi

कैसे करे किसी का मैरिज बायोडाटा देख कर जज?

Next Post
शादी के लिए बायोडाटा कैसे बनाये
Hindi Marriage Tips

लड़के की शादी के लिए बायोडाटा कैसे बनाते है

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *