fat

क्यों हो जाते है लोग शादी के बाद मोटे

शादी के बाद क्यों हो जाते है मोटे?

अक्सर आपने देखा भी होगा और सुना भी होगा कि शादी के बाद लड़का और लड़की मोटे हो जाते हैं। लड़के एक बार को मोटे हो ना हों लड़किया जरूर मोटी हो जाती है। क्या है इसके कारण? आप को जानकर हैरानी होगी कि इस पर बकायदा रिसर्च की गई है। 2011 में ओहिओ स्टेट में की गई स्टडी के अनुसार शादी के बाद लोगो का कम से कम 8 से 9 किलो वजन तो बढ़ ही जाता है। यू एस ए अगर 20 वर्ष की आयु की महिला की शादी होती है तो अगले कुछ सालों में उसका वजन 21 किलो तक और उसी उम्र के पुरुष का वजन 13किलो तक बढ़ने की संभावना है। रिसर्च में जो बातें सामने आईं वो इस प्रकार है।

1-खाने पर मिलने वाले निमंत्रण

नए शादीशुदा जोड़े को रिश्तेदारों की तरफ से खाने पर निमंत्रित किया जाता है। ऐसी जगह पर जाने के बाद नया जोड़ा ज्यादा ना नुकुर भी नही कर सकता। उन्हें लाड़ प्यार में ठूस ठूस कर खिलाया जाता है, ऐसी दावते करीब एक साल तक चलती है जिसमें तला भुना खाने से लड़का या लड़की का वजन बढ़ जाता है।

2-बाहर खाने पर जाना

नया शादीशुदा जोड़ा पूरी तरह रोमांस में डूबा होता है, ज्यादा से ज्यादा समय अकेले और साथ रहने की कोशिश करता है। इसी कोशिश में वो एक समय का खाना बाहर होटल या रेस्टोरेंट में खाते हैं। ज्यादातर डिनर बाहर किया जाता है जो कि सोने से पहले हैवी हो जाता है। ये भी वजन बढ़ने का एक बड़ा कारण होता है।

3-पाककला के प्रयोग

नई नवेली दुल्हन ससुराल के साथ साथ पति का दिल जीतने के लिए पाककला में पूरी तरह हाथ आजमाती है। नित नए पकवान बनाए जाते हैं, जिससे ससुराल वालों का वजन बढ़े ना बढ़े पति का वजन जरूर बढ़ जाता है। और अगर पति शादी से पहले परिवार से अलग रह रहा हो तो अचानक गर्म और स्वादिष्ट खाना मिलने से तो वजन बढ़ना लाजमी है।

4-शादी की चिंता से बेफिक्र होना

शादी का दबाव एक बहुत बड़ा सामाजिक दबाव होता है, जिसके कारण लड़का हो या लड़की दोनो ही अपने शारीरिक बनावट का पूरा ध्यान रखते है। पर शादी हो जाने के बाद वो इस चिंता से मुक्त हो जाते हैं। उनके ऊपर से किसी को आकर्षित करने का दबाव कम हो जाता है। जिससे वजन बढ़ता है।

5-मोटापे के प्रति लापरवाही

शादी होने के बाद लड़का और लड़की बल्कि कहा जाए तो खासतौर पर लडकिया जोकि शादी की तैयारी के समय जोर शोर से डायटिंग और एक्सरसाइज में लगी होती है। वो शादी होते ही अचानक सब कुछ छोड़ देती है। इतने जबरदस्त तरीके से हुआ बदलाव शरीर सम्भाल नही पाता  जिससे मेटाबोल्जिम बिगड़ कर वजन बढ़ाता है।

6-गर्भवती होना

महिलाओं का मोटापा बढ़ने का सबसे बड़ा कारण यहीं है। हार्मोन्स में जबरदस्त बदलाव, डिलीवरी के बाद काफी लंबा आराम बच्चे के साथ जागना, बच्चे की देखभाल में लगे होने से खाने पीने में लापरवाही होना तथा और भी कई कारणों से लड़की का वजन बढ़ जाता है।

7-व्यस्त दिनचर्या

शादी के थोड़े समय बाद जिम्मेदारियां बढ़ने लगती हैं, जो लड़की मायके में केवल अपना काम करती थी अब पूरे परिवार की जिम्मेदारी सम्भालती है। ऐसे में शुरुआत में टाइम मेन्टेन करना,रूटीन बनाना मुश्किल हो जाता है। अगर लड़की वर्किंग है तो और ज्यादा मुश्किल होता है। ऐसे में व्यायाम योग वगरैह के लिये समय नही मिल पाता और मोटापा बढ़ जाता है। इसी प्रकार लड़के जो शादी से पहले केवल खाने सोने और जॉब में बिजी होते है, वो शादी के बाद गृहस्थी की जिम्मेदारी में बिजी हो जाते है। और अपने वर्कआउट के लिए समय नही निकाल पाते, इसका एक और कारण भी है जो हास्यस्पद लगे लेकिन ये प्रमुख कारणों में से एक है। दरअसल नई नई शादी में जोड़ा रोमांच और रोमांस में डूबा होता है जिस कारण रातें जागने में निकलती है और सुबह उठना मुश्किल हो जाता है। सुबह लेट उठने के कारण सब काम टाइम पर नही होते और व्यायाम का समय सबसे पहले बलिदान किया जाता है।

8-लडक़ी का खुद को डस्टबीन बनाना

शादी के बाद ज्यादातर महिलाएं खाने पीने में कोताही बरतती है। जैसे काम मे उलझकर दोपहर तक कुछ ना खाना, फिर एक साथ बहुत सारा खा लेना। अपना खाना फिनिश करने के बाद भी बचा खुचा निपटाने की नीयत से खा लेना। ये खाने के तरीके से बॉडी में एक्स्ट्रा फैट जमा हो जाता है।

9-स्ट्रैस

जी हाँ, सही सुना स्ट्रैस आप सोचेंगे चिंता से तो वजन घटाना चाहिए तो ऐसा नही है। नई शादी में जहाँ नई उमंगे, उत्साह, खुशी होती है वहीं कई बार विवाह जिंदगी में हमेशा खुशियां लेकर नही आता। कई बार कुछ समय बाद ही स्थिति इतनी बिगड़ जाती है कि परिवार में कलह क्लेश उत्पन्न हो जाता हैं। केवल कलह ही नही, नींद पूरी ना होना, जिम्मेदारियो का दबाव भी स्ट्रैस दे सकता है। स्ट्रैस से कोर्टिसोल हॉर्मोन बढ़ जाता है और इस हॉर्मोन का काम होता है स्ट्रैस बढ़ने पर बॉडी के अंदरूनी अंगों पर सुरक्षा कवच बनाना। यही कवच फैट लेयर में कन्वर्ट हो जाता है, इसलिए स्ट्रैस से बढ़ने वाला मोटापा पेट और क़मर दिखाई देता है।

10-हॉरमोन बदलाव

हार्मोन्स का बदलाव केवल लड़कियों में नही लड़को में भी होता है और उसके निम्न कारण होते है। सेक्स सम्बन्ध, स्ट्रैस, जिम्मेदारी बढ़ना, लड़की के लिए जगह, माहौल और वातावरण बदलना, नींद पूरी ना लेना, खानपान में आकस्मिक बदलाव लड़की का गर्भधारण से बचने के लिए गर्भनिरोधक उपाय जैसे गर्भनिरोधक गोली, इंट्रा यूटेराइन डिवाइस, का इस्तेमाल करना, लड़के का सेक्स पावर को बढ़ाने के लिए सप्लीमेंट लेना इन सब कारणों से होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण मेटाबोलिज्म कमजोर हो जाता है जिससे वजन बढ़ जाता है। इस सबके अलावा यदि शादी शुदा जिंदगी बहुत खुशनुमा हो तब भी जोड़े का वजन बढ़ना लाजमी है। क्योंकि प्यार में डूबा जोड़ा साथ मे बैठ मूवी देखता हुआ स्नैक्स खाता रहता है। हर पल खुशी से जीता है और यही ख़ुशनुमा पल शरीर को वजन बढ़ा देते है। सोने पे सुहागा तब होता है जब जोड़ा परिवार से अलग रह रहा हो। ऐसे में लड़का लड़की बहुत आलसी हो जाते है,देर तक जागना, सुबह लेट उठना, ज्यादातर बाहर खाना। और यही खराब दिनचर्या वजन बढ़ने का एक कारण बनती है।

 
Next Post
The indian prayer prepraing the worship items for thread ceremony (puja, pooja) of indian wedding event with Ganesha statue (Hindu god of wisdom)
Hindi

क्यों होता है कुआँ पूजन?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!