wedding card matter in hindi

Wedding Card Matter In Hindi For Groom

शादी की बाकि तैयारियों के साथ साथ यह सोचना भी जरूरी है की आपको शादी के कार्ड में क्या लिखवाना है। शादी के कार्ड का मैटर लिखते समय यह जरूर ध्यान दे की कही आप कोई जरूरी बात लिखना ना भूल जाये। मैटर लिखते वक़्त नीचे दिए हुए कुछ चीज़ो का ध्यान हमेशा रखना चाहिए :



1. शादी कार्ड दोहा
2. शादी के कार्ड की शायरी
3. बालमनुहार
4. शादी के कार्ड का डिज़ाइन
5. आपको वेडिंग कार्ड मैटर इन हिंदी चाहिए या इन इंग्लिश
6. हिंदी में शादी के कार्ड का फॉर्मेट केसा होगा ?
7. शादी में बहुत सारी रसमें होती है जैसे की हल्दी की रसम, मेहँदी की रसम, सगाई की रसम । आपको कार्ड में कौन -कौन सी रसम के बारे में बताना है यह सोचना भी जरूरी है।
8. खास लोगो को बुलाने के लिए क्या लिखवाना चाहिए .




शादी का कार्ड चाहे दूल्हे की तरफ से हो या दुल्हन की तरफ से उसमे लिखा हुआ मैटर एक जैसा ही होता है। अगर कार्ड दूल्हे की तरफ का है तो दूल्हे का नाम पहले लिखा हुआ होता है। घरवालों के नाम में भी दूल्हे के घरवालों का नाम पहले आता है। बाल मनुहार में भी दूल्हे के घर के बच्चों का नाम आता है। बस यह ही फरक होता है दूल्हे और दुल्हन की शादी के कार्ड के मैटर में।




Indian wedding card matter in Hindi

इंडियन वेडिंग कार्ड की शुरुआत हमेशा गणेश जी के निमंत्रण से होती है। किसी भी मेहमान को बुलाने से पहले हम गणेश जी को याद करते है और उनको निमंत्रण भेजते है।
गणेश जी को निमंत्रण देने के लिए ज्यादातर नीचे दिए हुए दोहे शादी के कार्ड में लिखे जाते है :

1. वक्रतुण्ड महाकाय , कोटि सूर्य सम प्रभः।
निर्विघ्न कुरुमे देव , सर्व कार्येषु सर्वदा।।
2. विघ्न हरण मंगल कारन गणनायक गणराज
प्रथम निमंत्रण आपको सकल सुधारो काज।।
3. मंगलम भगवन विष्णु , मंगलम गुरुडध्वजः।
मंगलम पुण्डरीकाक्षो मंगलाय स्तनोहरि :।।
4. मंगल भवन अमंगल हारी ।
द्रवहु सुदसरथ अजर बिहारी।।
5. सर्व मंगल माँगलए शिवे सर्वार्थ साधिके ।
शरणए त्रियम्बिके गौरी नारायणी नमोस्तुते । ।



Wedding card matter in Hindi for groom

जोगणिया माताजी नमः श्री गणेशाय नम: जय गुरुदेव
वक्रतुण्ड महाकाय , कोटि सूर्य सम प्रभः।
निर्विघ्न कुरुमे देव , सर्व कार्येषु सर्वदा।।
मांगलिक कार्यक्रम
शनिवार 8 मार्च 2012 शनिवार 8 मार्च 2012 रविवार 9 मार्च 2012
गणपति स्थापना सगाई समारोह और महिला संगीत मंगल कलश एवम मायरा
दोपहर 12:30 बजे सायं 4:30 बजे से प्रातः 10:30 बजे से
स्थान : होटल महाराजा स्थान : अशोका मैरिज गार्डन स्थान : होटल महाराजा
मालवीय नगर , उदयपुर शेखावाटी मार्ग , उदयपुर मालवीय नगर , उदयपुर
रविवार 9 मार्च 2012
वर निकासी एवं बारात प्रस्थान – सायं 3:30 बजे (होटल महाराजा से )
आशीर्वाद समारोह एवं स्वरुचिभोज – सायं 6:30 बजे से
शुभ लगन – मध्य रात्रि
(स्थान : अशोका मैरिज गार्डन)
ननिहाल पक्ष :
श्रीमती कमला देवी , स्व- रामनारायण शर्मा
श्रीमती मिनाक्षी , श्री राजेश जोशी जी

जोगणिया माताजी नमः श्री गणेशाय नम: जय गुरुदेव
स्नेही स्वजन ,
परम पिता परमेश्वर की असीम कृपा से
श्रीमती कमला देवी एवं स्व. श्री रामनारायण शर्मा
अपने सुपौत्र
आयुष्मान राहुल संग आयुष्मति सुमन
(सुपुत्र: श्रीमती निर्मला एवं श्री राजीव जी शर्मा) ( सुपुत्री श्रीमती लक्ष्मी एवं श्री राजेश जी शर्मा)
के
शुभ विवाहोत्सव
की मधुर वेला पर आपको सादर आमंत्रित करते है।
कृपया सपरिवार पधार कर वर – वधु को शुभाशीर्वाद
प्रदान कर अनुग्रहित करे।
उत्तरकांशी : विशेष आग्रह : दर्शनाभिलाषी :
श्रीमती निर्मला एवं श्री राजीव जी वृंदा , वेदिका , ऋषि , पार्थ , चेरी श्रीमती पुष्पा – श्री दीपक जोशी
एवं समस्त शर्मा एवं मित्रगण
बाल मनुहार:
विशु , प्रीती

Previous Post
Roka Ceremony
English

Roka Ceremony

Next Post
Bal Manuhar In Hindi In Wedding Card
Hindi शादी के कार्ड

शादी के कार्ड के लिए बाल मनुहार 2019 | Bal Manuhar In Hindi In Wedding Card

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!