maaride

कोनसी बातें है शादी से पहले जाननी जरुरी

शादी से पहले की ज़रूरी बाते

शादी का बंधन लड़का और लड़की दोनो के जीवन मे एक बहुत बड़ा बदलाव लेकर आता है। रिश्ता तय होने के बाद दोनों के ही मन मे एक अलग ही उमंग होती है। आज कल बहुत सी सम्भावनाओ के कारण सगाई से शादी कर बीच करीब 4 से 6 महीने का गैप होता हैं। इस समय को आप एक कपल का गोल्डन पीरियड भी कह सकते हैं। क्योंकि इस समय पर ना कोई जिम्मेदारी होती है ना कोई बंधन। रोमांच और रोमांस से भरा समय होता है, उस पर परिवार की सहमति से सोने पर सुहागा हो जाता है। लेकिन सबसे ज्यादा रिश्ते इसी समय पर बिगड़ते है,क्योंकि लड़का या लड़की या दोनो ही नए रिश्ते और रोमांस के चक्कर मे कुछ गलतियां कर बैठते है। तो आइए जानते है ऐसी कुछ बाते जिनका ध्यान होने वाले दूल्हा दुल्हन दोनो को रखना चाहिए।

जाने जोड़ीदार की मानसिक स्थिति

सगाई के बाद फोन नम्बर का आदान प्रदान होता है, बातचीत शुरू होती है। ऐसे में दोनो ही अपने होने वाले जीवनसाथी की मानसिक स्थिति जानने का प्रयास करें। बातो बातो में जानने का प्रयास करे कि आपका साथी इस शादी के लिए पूरी तरह तैयार है कि नही, वह किसी दबाव में तो शादी नहीं कर रहा,वो आपको पसन्द भी करता है कि नही। वह आपसे बातो और मिलने को लेकर रुचि दिखा रहा है या नही।

प्रोफेशनल स्थिति से अवगत कराएं

यदि आप लड़की है तो लड़के से इस बात को क्लियर करले की वो आप को जॉब करने देगा कि नही, वही यदि आप लड़के है तो लड़की से उसके भविष्य की योजनाओं के बारे में बात करें। वो शादी के बाद आगे पढ़ना चाहती हैं या कोई जॉब करना चाहती है। आपस मे एक दूसरे से एजुकेशन के बारे में झूठ ना बोले।

सामाजिक और पारिवारिक स्थिति के बारे में जाने

अपने होने वाले जीवनसाथी के परिवार और रिश्तेदारों के बारे में जरूर पता करें। समाज मे उठना बैठना कैसे लोगो मे है, रिश्तेदारों से सम्बंध कैसे है, दोस्तो का घर आना जाना पसंद है कि नही। ये सब पता होने पर आप अपने होने वाले जीवनसाथी से जुड़े लोगों से उसी जानकारी के आधार पर बर्ताव करेंगे और वैवाहिक जीवन सुखमय रहेगा।

प्राथमिकता जाने

आपके जीवनसाथी की जीवन मे प्राथमिकता क्या है? वो शादी के बाद एकल परिवार में रहना चाहता है या संयुक्त परिवार में। ट्रांसफर की स्थिति में क्या निर्णय लिया जाएगा, यदि प्रोफेशनल मोर्चे पर कोई बहुत बड़ा मौका मिले लेकिन परिवार से अलग होना पड़े तो आपका जीवनसाथी किसे चुनेगा। इन मुद्दों पर बात बहुत जरूरी है अन्यथा यही बातें कलह का कारण बनती है।

साथी की पसन्द नापसंद,हॉबी के बारे में जाने

कैरियर और लक्ष्य के बारे में साथी कितना गम्भीर है। परिवार के आपके साथी की राय की क्या अहमियत है। आर्थिक मोर्चे पर परिवार में साथी का सहयोग कितना है। विभिन्न मुद्दों पर साथी क्या सोच रखता है, चाहे वो राजनीतिक मुद्दा हो या सामाजिक। क्योंकि कई बार इन्ही मुद्दों पर बहस विकराल रूप ले लेती है। साथ ही फैमिली प्लानिंग के बारे में बात करने में ना हिचकिचाए,यही चीज़े बाद में बड़ी बन जाती है। खुद ज्यादा बोलने की बजाय दूसरे को भी बोलने का मौका दे।

रिश्ता तय हो जाने पर लड़के क्या ना करे

लड़के को कोई भी ऐसी हरकत नहीं करनी चाहिए,जिससे लड़की के मन मे घृणा उत्पन्न हो। लड़की से मिलने पर तमीज से मिले,कहीं बैठने पर चेयर आफर करे,मेनू खुद ही ऑर्डर ना करते रहे लड़की से भी पूछे। एल्कोहल और ध्रूमपान सामने ही ना करने लगे,ना ही लड़की को अपनी तरफ से आफर करे। लड़की के सामने ज्यादा डींगें ना मारे, बातो को बढ़ाचढ़ा कर ना बोले। कपड़ो का पहनावा सामान्य रखे, फैशन के चक्कर मे कुछ भी हास्यस्पद ना पहने। लड़की को कम्फर्टेबल महसूस कराए, उसकी कोई बात गलत लगने पर तुरन्त रियेक्ट ना करें। लड़की की बातों में रुचि दिखाए, केवल अपनी कहने में व्यस्त ना रहे। हल्के फुल्के मजाक करे, कोई भी हास्य घटना सुनाए क्योंकि लड़कियों को हंसाने वाले लड़के बहुत पसंद होते है। ज्यादा नजदीक जाने की कोशिश ना करे। प्यार का इजहार अरेंज मैरिज में इतनी जल्दी नही होता इसलिए उतावले ना बने, लड़की को समय दे।

शादी तय हो जाने पर लड़कियां क्या ना करे

जबरदस्त डेटिंग से बचे, ऐसा करने आप दोनों ले रिश्ते का नयापन विवाह से पहले ही खत्म हो जाएगा। फोन पर सीमित समय तक बात करे, आपका पार्टनर वर्किंग हो तो पूरे दिन बात करना सम्भव नही होगा। इसलिए उनके काम के समय उन्हें बार बार डिस्टर्ब ना करे। लड़के की भावनाओ ,पसन्द नापसन्द को समझे और ज्यादा भावुकता ना दिखाए, नए रिश्ते में वो भी अरेंज मैरिज में ज्यादा भावुकता मूर्खतापूर्ण लगती है। अकेले सुनसान स्थानों पर मिलने से परहेज करें। अतीत से जुड़ी कोई भी चीज़ जिसका आपके आने वाले जीवन से कोई लेना देना ना हो वो ना ही बताए तो अच्छा। क्योंकि यही बातें शादी के बाद बार बार सामने लाकर आपको नीचा दिखाया जाएगा। भावुकता में बहकर कभी भी अतीत के कमजोर पलो का बखान ना करे, ये बातें आपके जी का जंजाल बन जाएंगी। किसी भी मेल दोस्त से ज्यादा खास परिचय ना कराए, कोई भी लड़का इतना प्रैक्टिकल नही होता कि इन सब बातों को सामान्य तरीके से ले। अपने परिवार के किसी भी सदस्य से जुड़ी राज की बात जाहिर ना करे, ये बाते आगे चलकर आपके परिवार के सम्मान को ठेस पहुँचा सकती है।

 
Next Post
The indian prayer prepraing the worship items for thread ceremony (puja, pooja) of indian wedding event with Ganesha statue (Hindu god of wisdom)
Hindi

क्यों होता है कुआँ पूजन?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!