How-To-Avoid-Argument-Initiate-Discussion

रिलेशनशिप टिप्स हिंदी में – relationship tips in hindi

हर कोई चाहता है की उसका रिश्ता सबसे मजबूत हो और रिश्तों में चारों तरफ खुशहाली हो लेकिन फिर भी कई कारणों से रिश्ते टिक नहीं पाते है। अगर साथ में अच्छे रिश्ते हो तो जिंदगी संवर जाती है और बुरे रिश्ते जिंदगी को बर्बाद कर देते है। अगर आपका रिश्ता मजबूत है तो दुनिया की कोई भी ताकत आपको हिला नहीं सकती।
जो लोग रिश्तों के महत्व को अच्छे से समझते है वे कभी भी रिश्तों में दरार नहीं आने देते और जो लोग रिश्तों की व्यापार की तरह समझते है, वे कभी रिश्तों के महत्व को समझ ही नहीं पाते और जब जरूरत होती है तब रिश्ते भी ऐसे लोग के काम नहीं आते।
रिश्ते बड़े नाजुक होते है इन्हें पैसों की पॉवर की बदौलत नहीं चलाया जा सकता बल्कि रिश्तों को चलाने के लिए बड़े दिल की जरूरत रहती है। आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की आप अपने रिलेशनशिप को कैसे मजबूत कर सकते है और कैसे रिश्तों में अपनी अहमियत बना सकते है।

रिश्तों को मजबूत बनाने के टिप्स - relationship advice in hindi

1. रिश्तों में पैसों को ना आने दे

आजकल लोग समझते है की पैसे ही रिश्तों को बनाते है लेकिन वे गलतफहमी में है रिश्तों की नींव पैसों के भरोसे नहीं चलती, यह सिर्फ दिल से चलते है। अगर पैसों से कोई रिश्ता बन भी गया तो वो ज्यादा समय तक नहीं टिकेगा। ऐसे रिश्ते बनाये जिसमे पैसों का कोई रोल नहीं हो क्योंकि पैसा आज है कल को ना हो लेकिन रिश्ता जिंदगी भर साथ रहना चाहिए।

2. अपनी गलतियों को स्वीकारें

जाहिर सी बात है रिलेशनशिप में गलतियाँ होना आम बात है लेकिन सबसे बड़ी कमी यह है की हम अपनी गलतियों को मानते नहीं है। अगर आपसे गलती हुयी है तो उसे तुंरत स्वीकारें इससे सामने वाले को भी अच्छा लगेगा और आपका रिश्ता मजबूत बनेगा।

3. उनकी फीलिंग्स का सम्मान करें

अगर कोई आपसे अपनी फीलिंग्स शेयर कर रहा है तो आप उनकी फीलिंग्स का सम्मान करें, उन्हें मजाक में ना ले। जो व्यक्ति अपने रिश्तों की फीलिंग्स को अच्छे से समझता है वो व्यक्ति सबके दिलों पर राज करता है।

4. रिश्ता दिल से होना चाहिए, दिमाग से नहीं

अगर आपका किसी के साथ रिश्ता है तो वह दिल से होना चाहिए क्योंकि दिमाग के रिश्ते अक्सर धोखा दे जाते है। दिमाग के रिश्ते अपने फायदे का हिसाब लगाते है जबकि दिल के रिश्ते अपनापन दिखाते है। इसलिए रिश्तों को दिल से निभाएं, दिमाग से नहीं।

5. रिश्तों में फायदा और नुकसान ना सोचें

आजकल लोग ऐसे रिश्ते बनाने पर जोर देते है जिसमे अपना फायदा हो, लेकिन ऐसे रिश्ते कुछ समय ही चलते है और इनसे फायदा हो ना हो लेकिन नुकसान जरुर हो जाता है। इसलिए ऐसे रिश्ते बनाये जिसमे फायदे और नुकसान का सौदा ना हो और वे हर हाल में टिके रहे।

6. बातचीत और मिलना जारी रखें

रिश्तों को समय की बहुत जरूरत रहती है। समय-समय पर अपनों से मिलते रहे और बातचीत को जारी रखें। दूर हो तो फ़ोन पर या चैट में ही बातचीत करें, लेकिन बातचीत खत्म ना करें।

7. रिश्तों में भरोसा बनाये रखें

किसी भी रिश्ते की मजबूती की नींव भरोसा होता है और अगर भरोसा एक बार टूट गया तो फिर लाख कोशिशों के बावजूद भी रिश्ता मजबूत नहीं रहता। आप किसी भी रिश्ते में हो भरोसा बनाये रखें। रिश्ते में भरोसा ऐसा बीज है जो रिश्ते को अंदर से मजबूत करता जाता है। ऐसा रिश्ता बनाये की आपके बारे में कोई पीठ पीछे बोले तो भी सामने वाले भरोसा ना करें।

8. अपने वादे को निभाएं

आपने जो वादा किया है और पस डिगे रहे और उसे हर हाल में निभाएं। रिश्तों के कमजोर होने का सबसे अहम कारण है की आप अपने वादे पर टिके नहीं रहते है। अगर आपने किसी के साथ कमिटमेंट किया है तो उसे हर हाल में निभाएं।

 
Next Post
The indian prayer prepraing the worship items for thread ceremony (puja, pooja) of indian wedding event with Ganesha statue (Hindu god of wisdom)
Hindi

क्यों होता है कुआँ पूजन?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Content is protected !!