maxresdefault (1)

क्या जरुरी है शादी के लिए बीमा करना?

घर का बीमा, हेल्थ का बीमा, गाड़ी का बीमा यहाँ तक कि बड़े बड़े सेलिब्रिटी अपने बॉडी पार्ट्स तक का बीमा करवा डालते है। तो अब आपके सामने है, शादी का बीमा अर्थात वेडिंग इशुरेंस, आजकल जिस तरह आधुनिक सुविधाओं और नए रंग ढंग है जब शादी ठीक ठाक ना निबट जाए डर ही रहता है। क्योंकि आजकल अनहोनी कभी भी, कहीं भी, किसी के भी साथ हो सकती है। उस पर आजकल होने वाली भव्य शादियां, बेइंतहा खर्च के बनाए गए मंडप, दुनिया भर की डिशेज को एक छत के नीचे रखना, बड़े बड़े कलाकारों को बुलाकर किये गए स्टेज प्रोग्राम। ऐसे में अगर कुछ अनहोनी घट जाए चाहे वो प्राकृतिक हो या मानवीय। ऐसे में अगर इस प्रकार हुए नुकसान की भरपाई हो जाए तो शायद दोनो ही पक्ष का दुख कुछ कम हो जाए। तो अगर एक दो साल के अंदर आप शादी के बारे में सोच रहे है तो विवाह बीमे के बारे में भी जरूर सोचें। ये बीमा आपको शादी के समय होने वाली चोरी, किसी दुर्घटना या शादी कैंसिल होने पर आपकी सहायता करेगा। ये बीमा आपको नुकसान से उबरने में मदद करेगा।

किस बात का रखे ध्यान

  • सबसे पहले कम से कम दो तीन बीमा पॉलिसी विक्रेता से बात करे।
  • पता करे कि किस किस पॉलिसी में क्या क्या चीज़ कवर की जा रही है।
  • जल्दबाजी में फैसला ना ले।
  • अपने सारे कागजात शादी के सम्पन्न होने तक सम्भाल कर रखे।
  • जरूरत के सभी पेपर्स कम्पलीट रखे।

कब ले बीमा पॉलिसी

  • शादी की डेट फिक्स होने पर।
  • शादी से कम से कम दो साल पहले।

किस पर मिलता है कवर

  • शादी कैंसिल होने पर
  • प्राकृतिक आपदाओं
  • आग लगने
  • चोरी होने
  • एक्ससिडेंट होने पर

भारत मे वेडिंग इशुरेंस देने वाली तीन कम्पनियां है

1-भविष्य जनरल

इस कम्पनी का विवाह सुरक्षा योजना बीमा मुख्य है, मान लीजिए किसी आकस्मिक बीमारी का पता चले या किसी प्राकृतिक आपदा के कारण शादी कैंसिल हो जाये तो आप के दोबारा शादी करने पर पूरा खर्च दिया जाएगा।

2-आई सी आई सी आई सी लोम्बार्ड

सजावट, खाना, म्यूजिक, होटल बुकिंग, ट्रेवल बुकिंग, कार्ड प्रिंटिंग और वेन्यू पर होने वाला खर्च, एक्ससिडेंट होने पर, या प्राकृतिक आपदा के समय होने वाले प्रॉपर्टी नुकसान पर बीमा कवर देती है।

3-एच डी ई एफ सी एर्गो

यह केवल तीन स्थितियो में बीमा कवर प्रदान करती है जैसे प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़, साइक्लोन, या भूकम्प की वजह से शादी कैंसिल हो जाए। वर या वधु दुर्घटनाग्रस्त हो जाए या चोरी हो जाए तो नुकसान की भरपाई बीमा कम्पनी द्वारा की जाती है।

वेडिंग इशुरेंस पॉलिसी में किसका कवर मिलता है

होटल बुकिंग

आप होटल बुक करा चुके, लेकिन ऐन वक्त पर शादी टल जाए, जिस स्थान पर होटल है वहाँ कोई अनहोनी हो जाए क्या करेंगे। निश्चिंत रहिए आपको बीमा कम्पनी इसकी भरपाई करेगी ताकि आप जल्दी से जल्दी कहीं और फंक्शन का इंतजाम कर सको।

टिकट

आप डेस्टिनेशन वेडिंग प्लान कर चुके, टिकट बुक कर चुके लेकिन अचानक प्लान में बदलाव हुआ। या तो जगह चेंज होने लगी या शादी ही टल रही हो, तब भी ये बीमा कवर आपको रिलैक्स होने का और आगे की प्लानिंग का मौका देंगे।

डेकोरेटर्स को दिया एडवांस

आप लाखो रूपए की सजावट प्लान कर चुके, डेकोरेटर्स को एडवांस दे चुके लेकिन अब शादी ही नही हो रही तो क्या करेंगे। डेकोरेटर्स से पैसे वापस मांगेंगे? चिंता मत कीजिये ये भी बीमा पॉलिसी में कवर है।

कैटरर्स को दिया एडवांस

100 से ज्यादा प्रकार के व्यजन की लिस्ट आपने कैटरर्स के हाथों में थमा दी। पर शादी की मिठाई से पहले ही किसी भी प्रकार की अड़चन ही घुस गई तो, तो दिमाग को रिलैक्स रखिये, आपको इस पर भी बीमा कवर मिलेगा।

कार्ड प्रिंटिंग

शादी तय होने के बाद कार्ड प्रिंटिंग होना लाजमी है, अब शादी कैंसिल होने पर प्रिंटेड कार्ड्स का तो कुछ नही हो सकता पर आपको इशुरेंस क्लेम तो मिल ही सकता है।

ज्वेलरी पर होने वाला खर्च

ज्वेलरी पर इतना अंधाधुंध खर्च किया जाता है मानों ये ज्वेलेरी रोज ही पहननी हो। लेकिन यही गहने अगर चोरी हो जाए तो दिल धकक से रह जाता है। पर अगर इस पर भी आपको बीमा कवर मिले तो चिंता आधी रह जाती है। इसके अलावा भी अलग अलग कम्पनी अलग अलग आफर के साथ कवर प्लान देती है। एक बात का और ध्यान रखे कि नुकसान की भरपाई केवल इस आधार पर होगी कि आपने कितने का बीमा कवर प्लान लिया है।

Previous Post
top-5-bridal-mehendi-artists-in-ahmedabad-who-can-stun-you-with-their-designs
Hindi शादी के टिप्स

कैसे करे मेहँदी डार्क?

Next Post
how to impress a boy in first meeting for marriage
Hindi

क्या बढ़ती उम्र के साथ आपको भी है अपने विवाह की चिंता?

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *